केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का बेंगलुरू में निधन, नेशनल कॉलेज में रखा जाएगा पार्थिव शरीर

THE NEWS INDIA)TNI 24 NEWS HINDI NETWORK)नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का आज बेंगलुरू में निधन हो गया है। वह काफी दिनों से कैंसर से जूझ रहे थे। कुछ ही दिन पहले वह लंदन से इलाज कराकर वापस लौटे थे, लेकिन आज सुबह उनका  निधन हो गया। अनंत कुमार के शव को बेंगलुरू के नेशनल कॉलेज में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। अनंत कुमार के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जाहिर किया है। उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि अनंत कुमार कुशल प्रशासक थे, उन्होंने कई अहम मंत्रालय सफलतापूर्व संभाले, वह भारतीय जनता पार्टी के लिए रत्न थे। कर्नाटक और खासकर कि बेंगलूरू में पार्टी को मजबूत करने के लिए उन्होंने काफी मेहनत की थी। वह अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों के लिए हमेशा उपलब्ध रहते थे।
अनंत कुमार पिछले कुछ दिनों से बीमार थे, जिसके बाद आज उनका निधन हो गया। उनके निधन की खबर सामने आते ही हर तरफ शोक की लहर फैल गई। केंद्रीय मंत्री सदानंत गौड़ा ने दुख जाहिर करते हुए ट्वीट किया कि मैं आश्चर्यचकित हूं, भरोसा नहीं कर पा रहा हूं, मेरे मित्र, भाई अनंत कुमार अब नहीं रहे। आपको बता दें कि अनंत कुमार के पास दो अहम मंत्रालय थे, जिसमे रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय दूसरा संसदीय कार्यमंत्री का जिम्मा अहम था। गृहमंत्री ने जाहिर किया शोक गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी अनंत कुमार के निधन पर दुख जाहिर करते कहा कि मैं इस खबर को सुनकर पूरी तरह से सदमे में हूं,

वह कद्दावर सांसद थे, जिन्होंने देश की सेवा अपनी पूरी क्षमता से की। लोगों की सेवा का उनमे जुनून था, मैं उनके परिवार के साथ इस दुख की घड़ी में संवेदना जाहिर करता हूं। अनंत कुमार को रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय का जिम्मा मई 2014 में दिया गया था, जबकि जुलाई 2016 में उन्हें संसदीय कार्यमंत्री का जिम्मा सौंपा गया था। वर्ष 1996 तक अनंत कुमार बेंगलुरू दक्षिण लोकसभा सीट से सांसद थे। उनका जन्म 22 जुलाई 1959 में बेंगलुरू में हुआ था और उन्होंने केएस आर्ट्स कॉलेज से बीए की पढ़ाई की थी। जिसके बाद उन्होंने एलएलबी की पढ़ाई कर्नाटक विश्वविद्यालय के जेएसएस लॉ कॉलेज से पूरी की थी। अनंत कुमार की दो बेटिंया हैं, जिनका नाम ऐश्वर्या और विजेता है, जबकि उनकी पत्नी का नाम तेजस्विनी है।

Related posts

Leave a Comment